Kangana Ranaut Says International Support To Farmers Protest Is A Brutal Attempt To Break Up India | किसान आंदोलन को मिले इंटरनेशनल सपोर्ट को बताया भारत के टुकड़े करने की साजिश, रिहाना को पोर्न सिंगर कहा


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
  • अर्नब गोस्वामी से बातचीत में कंगना ने कहा- किसान आंदोलन के चलते एक महीने में 12-15 करोड़ के विज्ञापन खो दिए
  • कंगना ने रिहाना को कहा पोर्न सिंगर, बोलीं- किसान आंदोलन के समर्थन में एक ट्वीट के लिए 100 करोड़ रुपए मिले होंगे

किसान आंदोलन को मिल रहे इंटरनेशनल सपोर्ट को कंगना रनोट ने भारत के टुकड़े करने की साजिश बताया है। उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा, “यह कहना बहुत ही विनम्र होगा कि भारत को बदनाम करने की साजिश है। मुझे लगता है कि यह क्रूरता से भारत के टुकड़े करने की साजिश है। यह तो शायद हमारे ऊपर महाकाल की कृपा है कि ग्रेटा थनबर्ग ने गलती से एक डॉक्युमेंट पोस्ट कर दिया। हालांकि, तुरंत ही इसे हटा दिया गया था।”

‘हमारा देश साजिशों के चलते टुकड़ों में बंटा है’

रिपब्लिक भारत के दिए इंटरव्यू में कंगना ने आगे कहा, “ऐसा नहीं है कि मैं अब इस बारे में बात कर रही हूं। मैं शुरुआत से ही इस बारे में बोलती आ रही हूं। यह अंतरराष्ट्रीय स्तर की साजिश है। हमारा देश इन्ही साजिशों के चलते टुकड़ों में पहले भी बंटा है। एक इस्लामिक मूवमेंट चला था, जिसके चलते भारत के कई टुकड़े हुए। फिर एक खालिस्तानी मूवमेंट हुआ था, जिसके चलते हमारे देश में कई उतार-चढ़ाव आए थे।”

“ये मूवमेंट (खालिस्तानी) इंडिया में पूरी तरह से मर चुका है। लेकिन लंदन और कनाडा जैसी जगहों पर मौजूद कुछ तत्व इसे फिर से बनाने की कोशिश कर रहे हैं। इनका एक ही मकसद है कि यहां पर ये सरकार को इतना मजबूर कर दें कि सिख कम्युनिटी के लोगों की 10-15 लाशें बिछ जाएं। ताकि यह मूवमेंट यहां पर आग पकड़ेगा और चीन से बॉर्डर पर प्रेशर बढ़ेगा। 1000 साल की गुलामी हमने सही है और शायद हमारे लिए आगे के 1000 साल और बुक हो जाएंगे।”

‘मैंने एक महीने में 12-15 करोड़ के ब्रांड्स खोए’

कंगना ने कहा, “जबसे यह आंदोलन शुरू हुआ है, तभी से मैं कह रही हूं कि ये किसान नहीं हैं। यह एक साजिश है। उस टाइम मेरे पास 6-7 ब्रांड्स थे, 3-4 एंडोर्स भी कर रही थी। उन लोगों ने भी मुझे अल्टीमेटम भेजा कि आप किसानों को आतंकी मत कहिए। करीब 12-15 करोड़ रुपए के ब्रांड्स मैंने एक महीने के अंदर खो दिए। इंडस्ट्री ने तो मुझे बायकॉट किया ही हुआ है।”

“कम से कम 25-30 केस मेरे खिलाफ दर्ज हुए हैं। हर दिन मुझे समन आ रहा है। लेकिन आज मेरे हाथों में यह प्रूफ है। उस पर्यावरणविद (ग्रेटा थनबर्ग) ने पोस्ट किया है। इसमें बताया जा रहा है कि पोएटिक जस्टिस नाम की संस्था इनको फंड दे रही है। यह इंटरनेशनल मूवमेंट है। लंदन से लेकर तमाम जगहों तक। ये बता रहे हैं कि अपनी-अपनी जगह पर इस-इस दिन इकठ्ठा होना है।

“सितंबर-अक्टूबर से यह पूरा आतंकी अभियान शुरू हुआ है। पोएटिक जस्टिस का फाउंडर कनाडा से है। लेकिन भारत में धारीवाल नामक व्यक्ति इसे देख रहा है। उसने सितंबर 2020 को कहा, “मैं खालिस्तानी हूं। आप मेरे बारे में नहीं जानते होंगे। क्योंकि खालिस्तान एक विचार है। खालिस्तान एक जीता, सांस लेता अभियान है, जो स्वतंत्र पंजाब के लिए है।”

‘रिहाना ने एक ट्वीट के 100 करोड़ रुपए लिए होंगे’

कंगना ने रिहाना पर हमला करते हुए कहा, “उसने पूरी महामारी पर कभी कुछ नहीं कहा। वह अमेरिकन पॉप स्टार है। वहां जब आतंकियों ने हमला किया, तब उसने कुछ नहीं कहा। एक दिन अचानक से उठती है और कहती है कि किसान आंदोलन पर बात करते हैं। उसने उस ट्वीट के लिए कम से कम 100 करोड़ रुपए चार्ज किए होंगे। इतना पैसा इन लोगों के पास कहां से आ रहा है?”

‘रिहाना पोर्न सिंगर, उसकी आवाज भी खास नहीं’

कंगना ने आगे कहा, “रिहाना एक पोर्न सिंगर है। ऐसी कोई खास आवाज नहीं है उसकी। 10 ढंग के क्लासिकल सिंगर बैठेंगे, तो वो भी कह देंगे कि उसे गाना नहीं आता। उनके अमेरिकन कल्चल में सबसे ज्यादा अश्लीलता होती है। वे किम कर्दाशियन जैसे लोगों को फॉलो करते हैं, जिनके बारे में पता भी नहीं होता कि वे करते क्या हैं। जब आपमें टैलेंट होता है तो आपको किसी और सहारे की जरूरत नहीं होती है।”

“लता (मंगेशकर) जी बैठकर गाना गाएंगी, एक लाख की भीड़ को भी इंगेज करेंगी। उनको कुछ करने की जरूरत नहीं है। ये होता है जेनुइन टैलेंट। ग्रेटा द्वारा पोस्ट किए गए डॉक्युमेंट में स्पष्ट तौर पर लिखा है कि रिहाना इस तारीख को यह पोस्ट करेगी। यह तैयारी 6 महीने पहले से थी। 26 जनवरी को जो यहां आतंकी हमला हुआ, उसका पूरा डेटा है यहां पर। लिखा हुआ है कि इंडिया पर इंटरनेशनल प्रेशर बनाएं।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here